February 29, 2024
Delhi

अब नए चक्रवात को लेकर IMD का अलर्ट जारी ,जानें कब और कहां देगा दस्तक?

अब नए चक्रवात को लेकर IMD का अलर्ट जारी ,जानें कब और कहां देगा दस्तक?

हरियाणा उत्सव, बीएस वाल्मीकिन

नई दिल्ली, 20 मई।

चक्रवात ‘ताउते’ के बाद एक और साइक्लोन की आहट ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। आईएमडी ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि 22 मई के आसपास नार्थ अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी पर एक लो प्रेशर का एरिया बनने की संभावना है। जो कि 24 मई को चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा और फिर ये नार्थ-वेस्ट की ओर बढ़ेगा। इसके बाद ये 26 मई की सुबह ओडिशा-पश्चिम बंगाल तटों के से टकराएगा, जिसके बाद ओडिशा समेत देश के कई राज्यों में भारी बारिश होने की संभावना है।

नए चक्रवात को लेकर IMD का अलर्ट जारी -इस दौरान 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार की हवाएं चलेंगी, ये तूफान कितना शक्तिशाली होगा, इस बारे में मौसम विभाग ने अभी कुछ नहीं कहा है। इस तूफान का नाम ‘यास’ है, जिसे कि ओमान ने दिया है। मछुआरों के लिए अभी से ही अलर्ट जारी है। उन्हें 22 मई से ही समुद्र में जाने से रोका गया है। विभाग ने 24-26 मई के दौरान ओडिशा-बंगाल में तेज आंधी की भी आशंका व्यक्त की है। क्यों आ रहे हैं साइक्लोन?
हालांकि उसने ओडिशा-बंगाल को अभी से ही अलर्ट पर रहने को कहा है। इससे पहले आईएमडी ने कहा था कि इस वक्त सारी परिस्थितियां बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में चक्रवात के अनुकूल हैं और इसी वजह से तूफान आ रहे हैं। बंगाल की खाड़ी के ऊपर समुद्र की सतह का तापमान लगभग 31 डिग्री सेल्सियस है और लगातार जलवायु परिवर्तन और समुद्र के बढ़ते ताप के कारण इस तरह के साइक्लोन आ रहे हैं।

‘चक्रवात’ किसे कहते हैं?

मालूम हो कि दरअसल लो एयर प्रेशर की वजह से वायुमंडल में व्याप्त गर्म हवा तेज आंधी में तब्दील हो जाती है,जिसे कि ‘चक्रवात’ कहा जाता है।

अगले 24 घंटों में यहां होगी भारी बारिश

अगले 24 घंटों के दौरान यूपी के पीलीभीत, बरेली, रामपुर, मुरादाबाद, अमरोहा, बिजनौर और सहारनपुर में भारी बारिश की आशंका है , जबकि लखनऊ, रायबरेली, प्रतापगढ़, प्रयागराज और सुल्तानपुर, वाराणसी में भी हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश हरियाणा, चंडीगढ़ , पूर्वोत्तर राजस्थान और उत्तरी मध्य प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। जबकि उत्तराखंड और हिमचाल में रेड अलर्ट जारी है।

source: oneindia.com

Related posts

गणतंत्र दिवस: पहली परेड कब हुई थी? जानिए ऐसे सवालों के जवाब

Haryana Utsav

WHO ने जारी की लिस्ट, बताए 2021 में स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने के 10 तरीके

Haryana Utsav

पीएम मोदी की जम्मू-कश्मीर के नेताओं संग अहम बैठक, तमाम नेता पहुंचे दिल्ली, जम्मू-कश्मीर में हाई एलर्ट

Haryana Utsav
error: Content is protected !!