Gohana

ब्राह्मण आरक्षण संघर्ष समिति ने इबीपीजी को दोबारा लागू करने की मांग की।

फोटो- ब्राहम भवन में इबीपीजी को दोबारा लागू करने की मांग करते हुए ब्राह्मण आरक्षण संघर्ष समिति के सदस्य।
-पंजाब की तर्ज पर हरियाणा में भी बने ब्राह्मण कल्याण आयोग

हरियाणा उत्सव/ बीएस बोहत

गोहाना: अखिल भारतीय ब्राह्मण आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा पुराना बस स्टैंड स्थित ब्राह्म भवन में बैठक का आयोजन किया। बैठक में गरीब ब्राह्मणराजपूत, बनिया, पंजाबी युवा को आरक्षण (ईबीपीजी) आरक्षण को दोबारा से लगू करने की मांग की। सामान्य वर्ग में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए (ईबीपीजी) बैठक की अध्यक्षता राष्ट्रीय महासचिव कुलदीप कौशिक ने की। मुख्य वक्ता के रूप में समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित राम दीक्षित पहुंचे।

हरियाणा कांग्रेस के समय 2013 में इबीपीजी आरक्षण लागू किया गया था। लेकिन भाजपा सरकार ने उसे रद्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि आर्थिक आधार वाले आरक्षण इबीपीजी के तहत हरियाणा पुलिस सर्विस आयोग (एचपीएससी) की नौकरियों में 240 युवाओं को ज्वाइनिंग दी जाए। युवाओं ने सभी प्रक्रिया पूरी की है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों के हित के लिए पंजाब की तर्ज पर हरियाणा में भी ब्राह्मण कल्याण आयोग का गठन किया जाना चाहिए। ब्राह्मण समाज में भी गरीब लोग हैं। जो मेहनत मजदूरी कर अपना गुजारा करते हैं। समिति के राष्ट्रीय महासचिव कुलदीप कौशिक ने कहा कि इबीपीजी श्रेणी में चार समाज आते हैं। इबीपीजी के जो परिणाम रुके हुए हैं उनको जल्द से जल्द जारी करने की मांग की। इस मौके पर समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता नीरज वत्स, सूरजमल शर्मा, राजेश पराशर, राजेश कुश, रामनिवास शर्मा, धर्मपाल छपरा, अनिल शर्मा, दीपक भारद्वाज, दीपक कौशिक, नरेंद्र भारद्वाज, मदन अत्री आदि मौजूद थे।

Related posts

स्काउट और गाइड प्रशिक्षण शिविर के लिए रवाना हुए शिक्षक

Haryana Utsav

आपका मत लोकतंत्र की जान है, मत की ताकत को पहचानें- एसडीएम

Haryana Utsav

Medical: डा. सचिन लठवाल ने पीजी कोर्स के लिए प्राप्त की पहली रैंक

Haryana Utsav
error: Content is protected !!