Rohtak

अधिवक्ता राकेश खेड़ा ने पुस्तक में बताया कोविड महामारी आपदा या अवसर

फोटो- कोविड-19 आपदा या अवसर नाम की पुस्तक का विमोचन करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. हर्षवर्धन (बाएं से दूसरे)।

केंद्रीय मंत्री ने अधिवक्ता राकेश खेड़ा की पुस्तक कोविड-19 आपदा या अवसर का विमोचन किया

हरियाणा उत्सव: रोहतक
भंवर सिंह बोहत

रोहतक जिले के कलानौर निवासी एवं दिल्ली तीस हजारी न्यायालय में कार्यरत अधिवक्ता राकेश खेड़ा द्वारा लिखित पुस्तक कोविड-19, आपदा या अवसर का विमोचन किया गया। कोविड-19, (कोरोना महामारी) आपदा या अवसर पुस्तक का विमोचन सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. हर्षवर्धन ने किया। दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री एवं उद्योग मंत्री सत्येंद्र जैन ने पुस्तक की सराहना की। इसके अलावा कई जनप्रतिनिधियों और प्रतिष्ठित लोगों ने पुस्तक लिखने पर लिखित में शुभ संदेश भेजें हैं।

फोटो- पुस्तक: कोविड-19 आपदा या अवसर

डा. हर्षवर्धन ने कहा कि हमें विश्वास है कि यह पुस्तक पाठकवर्ग में सम्मानित स्थान प्राप्त करेगी।
सत्येंद्र जैन ने अपने संदेश में कहा कि लेखक के इस प्रयास से जनसाधारण को मानव त्रासदी से अवगत कराने का अवसर प्राप्त होगा। इस पुस्तक के विषय में दिल्ली एवं हरियाणा के विभिन्न गणमान्य सदस्यों ने अपने शुभ संदेश भेजे हैं। जिसमें अंतराष्ट्रीय काउंसिल ओफ ज़ूरिसट के अध्यक्ष डा. अदिश अग्रवाल ने अपने संदेश में लिखा कि लेखक ने कोविंड -19 आपदा या अवसर पुस्तक को इतिहास के पन्नो पर दर्ज करने का बहुत साहसिक प्रयास किया है। यह पुस्तक आने वाली पीढिय़ों को वैश्विक महामारी के घटना चक्र की विस्तृत जानकारी देने में अहम भूमिका निभाएगी। लेखक ने महामारी के दौरान घटित सभी विषयों पर बहुत खुब तरीके से प्रकाश डाला है।

अधिवक्ता राकेश खेडा ने पहले भी कई पुस्तकें लिखी
अधिवक्ता राकेश खेडा द्वारा 2011 में लिखित पुस्तक कुछ अनुभव कुछ यादें और 2015 में प्रकाशित पुस्तक अनुभव ने राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रियता प्राप्त की। सामाजिक, आध्यात्मिक, नैतिकता जैसे महान विषयों पर पुस्तक लिखकर मानवीय मूल्यों को स्थापित करने का बहुत सराहनीय प्रयास किया है।

Advo. Rakesh Kheda

कोविड आवदा या अवसर
-हाल में कोविड -19 (कोरोना) आपदा या अवसर पुस्तक में उन सभी विषयों का समावेश किया गया है। जो महामारी के दौरान प्रभावि हुए चाहे वो लाक्डाउन हो या कोरोना के लक्षण, उपाय, आर्थिक मंदी , शिक्षा जगत पर प्रभाव , घरेलू हिंसा , वर्चूअल प्रणाली, स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों की भूमिका व सरकार द्वारा उठाये गए क़दम व विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर प्रकाश डालकर आपदा को अवसर मे बदलने का ख़ूबसूरत प्रयास किया है। इस पुस्तक को लेकर दिल्ली बार काउंसिल के सदस्य मुरारी तिवारी ने भी अधिवक्ता राकेश खेडा को बधाई संदेश भेजा और पुस्तक की सराहना की।

Related posts

हरियाणा में ब्लैक फंगस का इलाज करने वाले अस्पतालों के नामों की लिस्ट बनाई गई, यहां करवाइए उपचार

Haryana Utsav

Rohtak: 26 अक्टूबर को होगी संस्थागत संपत्तियों की ई-नीलामी-DC

Haryana Utsav

25 नवंबर से एमडीयू में लगेंगी ऑफलाइन कक्षाएं, वैक्सीन लगवाने वाले काे ही मिलेगी एंट्री

Haryana Utsav
error: Content is protected !!