Delhi

चौटाला बेतुके बयानों से करा रहे फजीहत

Ajay Chautala

दुष्यंत चौटाला की छवि को भी पहुंचा रहे हैं नुकसान

हरियाणा उत्सव/ अनिल खत्री
गोहाना डेस्क स्पेशल रिपोर्ट

लंबा राजनीतिक अनुभव रखने वाले जननायक जनता पार्टी के संस्थापक और पूर्व सांसद डॉ अजय सिंह चौटाला अपने गैर जिम्मेदाराना बयानों के कारण हरियाणा की राजनीति में लगातार चर्चा का विषय बने हुए हैं। जो कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व पार्टी के लिए जी का जंजाल बन जाते हैं। जननायक जनता पार्टी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी खुद डॉक्टर अजय सिंह चौटाला के कंधों पर है।उस जिम्मेदारी को निभाने में वह पूरी तरह से विफल साबित हो रहे हैं। बिना सोचे समझे उनके द्वारा दिए गए बयानों के कारण पार्टी को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

जेजेपी के कार्यकर्ताओं को बड़ी उम्मीद थी कि डॉक्टर अजय सिंह चौटाला अपनी कड़ी मेहनत से जननायक जनता पार्टी को शिखर पर ले जाएंगे। हालांकि अजय सिंह चौटाला पूरी मेहनत के साथ प्रदेश में पार्टी को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत तो कर रहे हैं। लेकिन उनकी बयानबाजी के कारण जननायक जनता पार्टी को पार्टी को बड़ी फजीयत उठानी पड़ रही है। डॉक्टर अजय सिंह चौटाला की बयानबाजी के कारण उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला की छवि को भी नुकसान हो रहा है। पार्टी के सभी नेता व जेजेपी सुप्रीमो डॉक्टर अजय चौटाला और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पार्टी को चौधरी देवीलाल की नीतियों की पार्टी बता रहे हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का आपस में पारिवारिक रिश्ता है। और दोनों परिवारों का रिश्ता पगड़ी बदल भाई का है। और दोनों परिवार राजनीतिक से ऊपर उठकर भी चुनाव में एक दूसरे का प्रचार प्रसार करते रहे हैं। हाल में हुए पंजाब विधानसभा चुनाव में उसी रिश्ते का फर्ज निभाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला और चौधरी अभय सिंह चौटाला ने भी बादल परिवार के लिए वोट की अपील की।

पंजाब विधानसभा चुनाव में इस बार बादल परिवार को हार का सामना करना पड़ा। तंज कसते हुए डॉक्टर अजय सिंह चौटाला ने बेतुका बयान देते हुए कहा कि जहां जहां पैर पड़े संतन के, वहीं वहीं बंटाधार। इसके बाद डॉक्टर अजय सिंह चौटाला ने अपने जन्मदिवस पर रैली को संबोधित करते हुए 1 साल से लंबे चले किसान आंदोलन को बड़ी बीमारी बता दिया। जिसके बाद किसानों ने अजय सिंह चौटाला का जमकर विरोध किया। इससे पहले शराब की उम्र हरियाणा सरकार के द्वारा घटाने पर अजय सिंह चौटाला ने विवादित बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि शराब पीने की कोई उम्र नहीं होती बच्चे भी शराब पीते हैं। डॉक्टर अजय सिंह चौटाला अक्सर इस तरह के बेतुके बयान देकर पार्टी को काफी नुकसान पहुंचा रहे हैं। डॉक्टर अजय सिंह चौटाला का एक लंबा राजनीतिक अनुभव है उसी अनुभव का फायदा उठाते हुए पार्टी हित में उन्हें इस तरह की बयानबाजी से बचना चाहिए।

Related posts

किसानों के बाद व्यापारी भी करेंगे भारत बंद और चक्का जाम, जानिए क्या है असली वजह

Haryana Utsav

तात्या टोपे के वशंज चला रहे दुकान तो उधम सिंह के वशंज करते हैं दिहाड़ी मजदूरी

Haryana Utsav

साल 2021 का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई, बुधवार को

Haryana Utsav
error: Content is protected !!