Sonipat

भगवान वाल्मीकि मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा में पहुंचे राज्यमंत्री बिसंबर वाल्मीकि

-संत-महात्माओं के संदेश को घर-घर पहुंचा रही है हरियाणा सरकार

हरियाणा उत्सव, गन्नौर-सोनीपत (भंवर सिंह)

गन्नौर जीटी रोड़ फ्लाईओवर के नीचे आयोजित भगवान वाल्मीकि की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठïा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। हरियाणा सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री बिसंबर वाल्मीकि मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे। उन्होंने भगवान वाल्मीकि की मूर्ति पर पुष्प अर्पित किए।
उन्होंने कहा कि भगवान वाल्मीकि ने सामाजिक सद्भाव और समानता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि जमीन की सतह से धर्म की पराकाष्ठा प्राप्त करने वाले एक महान महात्मा थे। जिन्होंने आदिकाव्य रामायण जैसी रचना कर समाज को सत्य, कत्र्तव्यनिष्ठा एवं सन्मार्ग पर चलने का मार्ग दिखाया।
उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि द्वारा दी गई सामाजिक समरसता, सद्भाव तथा मानवता जैसे नैतिक मूल्यों की आज पहले से कहीं अधिक प्रासंगिकता है। उनके विचार एवं आदर्श हमें समतामूलक समाज की स्थापना की प्रेरणा देते रहेंगे। उन्होंने कहा कि हम सभी को महर्षि वाल्मीकि के महान दृष्टिकोण एवं उनके द्वारा दी गई शिक्षा को अपने व्यवहार में अपनाने का संकल्प लेना होगा। यही उनके प्रति हमारा सम्मान तथा सच्ची श्रद्धा होगी।

राज्यमंत्री ने कहा कि आदिकवि महर्षि वाल्मीकि जी ने महाकाव्य रामायण के माध्यम से सम्पूर्ण विश्व को संदेश दिया कि असत्य कितना भी शक्तिशाली हो लेकिन विजय सदैव सत्य की ही होती है। उनका जीवन व रचनाएँ सदैव सत्य, प्रेम, कर्तव्य और धर्म के मार्ग पर चलने को प्रेरित करती हैं। उन्होंने कहा कि महापुरुषों की जयंतियां मनाने से हमें, विशेषकर हमारी युवा पीढ़ी को उनके जीवन से जुड़े विभिन्न पहलुओं को जानने व समझने का मौका मिलता है। इससे हमारे युवाओं को इन महापुरुषों के आदर्शों और सिद्धांतों पर चलने की सदैव प्रेरणा मिलती है। ऐसे कार्यक्रमों से समाज के लोगों में आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना मजबूत होती है और सामाजिक समरसता की एक नई शुरूआत भी हुई है। समरसता दिवस के रूप में इन जयंतियों को मनाने के फैसले से समाज के लोगों में आपसी प्रेम और भाईचारे की भावना के साथ-साथ उत्सव जैसा माहौल हुआ है। आज हमें इस बात की आवश्यकता है कि हम जात-पात, ऊंच-नीच और साम्प्रदायिकता के भेदभाव को समाप्त कर एक भारत-श्रेष्ठ भारत के लिए मिलकर काम करें।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हरियाणा में सभी वर्गों के संत-महात्माओं व महापुरूषों की जयंती आदि से संबंधित कार्यक्रम राज्यस्तर पर मनाए जाते हैं। हरियाणा में भाजपा सरकार ने ही महर्षि वाल्मीकि, बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर, संत कबीरदास व संत शिरोमणि रविदास जी की जयंती के आयोजन प्रदेश स्तर पर मनाने की शुरुआत की है जो कि अनुकरणीय उदाहरण है। उन्होंने कहा कि संत महात्माओं ने समाज को सही रास्ता दिखाने का काम किया है। इसी संदेश को सरकार घर-घर पहुंचा रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार महापुरूषों के बताए गए रास्ते पर चलकर आज हर गरीब के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। आज हर गरीब का हब उसके घर बैठे मिल रहा है। आज गरीब को किसी बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री नायब सैनी उनके कल्याण के लिए उनके साथ खड़े हैं।
इस दौरान गन्नौर से भाजपा नेता देवेन्द्र काद्यान ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि के जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए, वे महान समाज सुधारक थे। भगवान वाल्मीकि महान चिंतक, विचारक और युग दृष्टा के साथ-साथ समाज सुधारक भी थे। उन्होंने अंधविश्वास, कुरीतियों और रूढि़वादिता का डटकर विरोध किया और समाज को एक नई दिशा दी। उन्होंने कहा कि देश में समय-समय पर अनेक महापुरुषों ने जन्म लेकर मानव जाति का मार्गदर्शन किया है। महर्षि वाल्मीकि भी ऐसे ही महापुरुष थे, जिनके सिद्धांत आज भी समाज के लिए प्रासंगिक हैं। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने पवित्र रामायण की रचना कर पूरी मानव जाति के कल्याण हेतु धर्म का मार्ग प्रशस्त किया। उन्होंने कहा कि संत-महात्माओं की शिक्षाएं पूरे मानव समाज की धरोहर हैं।
इस मौके पर कार्यक्रम के आयोजक रवि मंगवाना, भारत केसरी बिरजू पहलवान, अमृत पहलवान, जसविन्द्र पहलावन, गन्नौर नगरपालिका के पार्षद अंकित त्यागी, राकेश सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Related posts

सोनीपत शहर में नाच गाकर निकाली खाटू श्याम निशान एवं कलश यात्रा

Haryana Utsav

नए एमडी उदय सिंह ने संभाला आहुलाना चीनी मिल का कार्यभार

Haryana Utsav

बाबा मनशाह का संदेश: शिक्षा से खुलेंगे आपकी तरक्की के रास्ते

Haryana Utsav
error: Content is protected !!