Sonipat

WUD: के दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बांटी डिग्रियां

डब्ल्यूडी के दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बांटी डिग्रियां
स्वर्ण पदक विजताओं को पहनाया स्वर्ण पदक
हउ, सोनीपत:
सोनीपत के राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में स्थित वल्र्ड यूनिवर्सिटी आफ डिजायन (डब्ल्यूयूडी) में प्रथम दीक्षांत समारोह का आयोजन किया। समारोह में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे।
मंत्री नितिन गडकरी ने स्वर्ण पदक विजेताओं को पुरस्कृत कर और डिग्रियां प्रदान की।
उन्होंने कहा कि 22 प्रतिशत लोग मैन्यूफैक्चरिंग तथा 50 से 56 प्रतिशत लोग सर्विस सेक्टर और 12 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर करते हैं। कृषि क्षेत्र के 12 प्रतिशत लोग 55 प्रतिशत जनसंख्या का भरणपोषण करते हैं। इसलिए बेहद जरूरी है कि कृषि क्षेत्र को ताकत प्रदान की जाए। डब्ल्यूयूडी के विद्यार्थियों में इसमें अपना कीमती योगदान देना चाहिए। उचित दृष्टिïकोण के साथ सही तकनीक अपनाते हुए बाजार की उपलब्धता और लोगों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए आगे बढऩे की जरूरत है।

WUD University
WUD University

उन्होंने कहा कि पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी मांगने वाले नहीं नौकरी देने वाले बनें। जिसके लिए उन्हें उद्यमिता को अपनाना होगा। इसके लिए निर्णय क्षमता को विकसित करें। रिस्क लेकर आगे बढऩे से सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वïान किया कि वे सामाजिक आर्थिक राष्टï्रीय स्थिति का अध्ययन करते हुए नव निर्माण के प्रतिभागी बनें।
100 प्रतिशत बायो एथनोल पर चलने वाली गाड़ी लाने के लिए प्रयासरत हैं। उनका लक्ष्य है कि एथनोल अर्थव्यवस्था को पांच लाख करोड़ रुपये तक ले जाया जाये, जिसकी संभावनाएं मौजूद हैं। इससे किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी, क्योंकि फसल अवशेष (पराली) का प्रयोग इसके लिए किया जा सकता है। पराली को जलाकर प्रदूषण फैलाने की बजाय इसे औद्योगिक इकाइयों को बेचना चाहिए जो इकाइयां इससे बायो एथनोल बनाती हैं।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फूड, फर्टिलाईजर और फ्यूल ही आज के दौर की प्रमुख समस्याएं हैं जिनके ओर संपूर्ण विश्व की अर्थव्यवस्था घूम रही है। नये विचारों के साथ इस दिशा में देश को मजबूत करने का प्रयास किया जाना चाहिए, जिसके लिए वे स्वयं आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार कई-कई मंजिला इमारतें बन रही हैं उसी प्रकार फ्लाईओवर भी बनाये जा सकते हैं। पूना में इस प्रकार के प्रयासों को सफलता मिली है। उन्होंने बताया कि वे यमुना की गंदगी को दूर करने के लिए विशेष रूप से प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 28 हजार करोड़ रुपये की लागत से 40 नदियों को शुद्घ करने के प्रयास किये गये हैं। सोनीपत से दिल्ली, मथुरा, आगरा, इटावा, प्रयागराज इलाहाबाद तक तथा इसके आगे भी नदी के सफर को सुगम बनाने की योजना है। इस दिशा में 70 प्रतिशत काम पूरा किया जा चुका है। यमुना में प्लेन उतारने की योजना है जहां से कहीं का भी सफर किया जा सकेगा। एयरपोर्ट की तर्ज पर सी-पोर्ट व रिवर-पोर्ट बनाये जायेंगे।

व्यर्थ की चीजों को प्रयोग में लाने की दिशा में काम करने के लिए प्रोत्साहन देते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि वेस्ट से पैसा मिलता है। उन्होंने बताया कि वे अपने शहर में ऐसा कर चुके हैं। शौचालयों के गंदे पानी को बेचकर उन्हें 300 करोड़ रुपये की आमदनी हुई। सोनीपत-पानीपत की औद्योगिक इकाइयों को भी पानी की बहुत आवश्यकता होती है। इस दिशा में यहां भी काम किया जा सकता है। मथुरा में भी इस प्रकार का रिसाईक्ंिग प्रोजैक्ट कामयाब हुआ है। नवीन विचारों की आज देश को जरूरत है। उन्होंने उदाहरण दिया कि बाम्बू से क्रेश बैरियर बनाये जा सकते हैं। एक एकड़ में करीब 200 टन बाम्बू तैयार होता है। बाम्बू से अचार व कपड़ा भी बनता है, जिससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लाभ मिलेगा। उन्होंने इस प्रकार के कई अन्य उदाहरण भी दिए, जिसमेंं गलास फाइबर से बनने वाला स्टील प्रमुख रूप से शामिल रहा। वेस्ट मैटिरियल का प्रयोग कर उत्पादन की कीमत कम करते हुए गुणवत्ता में वृद्घि करें।
इस दौरान सांसद रमेश कौशिक व विधायक निर्मल चौधरी ने भी डिग्री हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस मौके पर डब्ल्यूयूडी के कुलपति डा. संजय गुप्ता ने केंद्रीय मंत्री गडकरी व अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए गतिविधियों व उपलब्धियों की जानकारी दी। विश्वविद्यालय की ओर से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को हस्तनिर्मित उनकी तस्वीर व लेजर तकनीक से बनाई गई उनकी तस्वीर भेंट की गई। कुलपति ने डिग्रीधारकों को शपथ भी दिलाई कि वे अपने ज्ञान का उपयोग राष्टï्रहित में करेंगे।
इस अवसर पर सांसद रमेश कौशिक, विधायक निर्मल चौधरी सहित रजिस्ट्रार मंजीत सिंह, डीन अकादमी प्रो. नीना सिंह जुत्सी, अतिरिक्त उपायुक्त शांतनू शर्मा सहित अन्य फैक्ल्टी सदस्य व गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

चार विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक पहनाकर किया सम्मानित:
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वल्र्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजायन के प्रथम दीक्षांत समारोह में चार छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक पहनाकर सम्मानित किया। इनमें 2020 बैच की निशिता गुप्ता को चांसलर्स गोल्ड मेडल, कंचन जोशी (बैच 2020) फैशन में गोल्ड मेडल तथा कृतिका वर्मा को (बैच 2021) चांसलर्स गोल्ड मेडल और अनूप राय (बैच 2021) फैशन शिक्षा में गोल्ड मेडल मिला। साथ ही वृंदा मलिक (बैच 2020) को भी फैशन शिक्षा में रजत पदक से सुशोभित किया गया।

107 छात्र-छात्राओं को वितरीत की गई डिग्रियां:
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वल्र्ड यूनिवर्सिटी ऑफ डिजायन के प्रथम दीक्षांत समारोह में 140 में से 107 छात्र-छात्राओं को डिग्रियां प्रदान कर सुशोभित किया। विभिन्न पाठ्यकमों के 140 विद्यार्थियों को डिग्रियां दी जानी थी, किंतु समारोह में 107 विद्यार्थी शामिल हो सकेे। डिग्री हासिल करने वाले विद्यार्थियों को केंद्रीय मंत्री गडकरी ने शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Related posts

दुखद घटना- कुंडली बॉर्डर पर युवा किसान की मौत, महज 35 साल का था मृतक मनोज शर्मा

Haryana Utsav

गांव गढी ब्रहा्रमणान में पोषण पखवाड़ा शिविर आयोजित

Haryana Utsav

 बच्चा बच्चा गोद लेने के लिए निर्धारित प्रक्रिया को करना होगा पूरा

Haryana Utsav
error: Content is protected !!