Gohana

ओबीसी के बिना महिला आरक्षण बिल अधूरा- घोड़ेला

पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व विधायक रामनिवास घोडेला

जातिगत जनगणना कराने की मांग
हरियाणा उत्सव, गोहाना (भंवर सिंह= BS Bohat)
गुढा रोड स्थित बैकवर्ड भवन में महिला आरक्षण बिल को लेकर ओबीसी नेताओं ने बैठक का आयोजन किया। बैठक की अध्यक्षता आजाद सिंह दांगी ने की। बरवाला से पूर्व विधायक मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राजनीति में 33 प्रतिशत महिलाओं को आरक्षण देने के लिए बिल लाई है। बिल में ओबीसी समाज की महिलाओं को जगह नहीं दी गई है। यह ओबीसी के साथ घोर अन्याय है।
उन्होंने कहा कि ओबीसी की महिलाओं को आरक्षण नहीं देकर हमारा अपमान किया है। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुले मंच से कहा था मैं पिछड़ी जाति से हूं। मैं पिछड़ी जातियों के अधिकारों के साथ कुठाराघात नहीं होने दूंगा। रामनिवास घोड़ेला बैठक के बाद वार्ड नंबर 1 के एमसी नाहना राम के भतीजे की मौत पर शोक प्रकट करने पहुंचे।

पिछड़ी जातियां पहले ही नौकरियो, राजनीति, सामाजिक और आर्थिक तौर से बहुत पिछड़े हुए हैं। लोगों ने अपनी जाति के प्रधानमंत्री से बड़ी उम्मीदें लगा रखी थी परंतु बीजेपी सरकार ने 33 प्रतिशत आरक्षण में पिछड़ी जातियों को आरक्षण न देकर यह दिखा दिया कि यह सरकार ओबीसी विरोधी है। आने वाले चुनाव में पिछड़ा वर्ग भाजपा को सत्ता से बाहर करेगा और जो पार्टी पिछड़े वर्गों के अधिकारों को देने का वादा करेगी उस पार्टी को वोट देकर सरकार बनवाएगी
आजाद सिंह दांगी ने कहा केंद्र सरकार में 90 सचिवों में से सिर्फ तीन सचिव एससी एसटी और ओबीसी से हैं, क्या भारत में इन वर्गों की आबादी 5 प्रतिशत है। देश में सबको भागीदारी देनी चाहिए। उन्होंने देश में जातिगत जनगणना करवाने की मांग की। इस मौके पर बैकवर्ड नेता राजपाल कश्यप, प्रभु दयाल प्रजापति, सुनील भंडेरी ,सतवीर रबारी , सतीश जांगडा ,कर्मवीर पांचाल, गंगा सिंह कश्यप, बलवान जोगी आदि मौजूद रहे।

Related posts

गोहाना; पहुंचे इंद्री से विधायक रामकुमार कश्यप

Haryana Utsav

मांगों को लेकर 11 नवंबर और 12 दिसंबर को अध्यापक करेंगे विरोध प्रदर्शन

Haryana Utsav

जैन स्कूल में हवन के साथ नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत

Haryana Utsav
error: Content is protected !!