February 29, 2024
Gohana

-बदले गए श्रम कानूनों को रद्द करने की मांग

विभिन्न सामाजिक संगठनों ने श्रम कानूनों के खिलाफ निकाला जुलूस

हरियाणा उत्सव, बीएस बोहत

गोहाना: विभिन्न सामाजिक संगठन और कर्मचारी यूनियनों ने श्रम कानूनों में किए गए बदलाव के खिलाफ विरोध जुलूस निकाला। केंद्र सरकार द्वारा श्रमिक हितेषी 29 श्रम कानूनों को खत्म कर दिया है। श्रम कानूनों में सुधार की मांग को लेकर सभी संगठनों के सदस्य जींद रोड स्थित जवाहर लाल नेहरू पार्क में एकत्रित हुए और सभा का आयोजन किया। यहां से शहर के विभिन्न चौकों से होते हुए शहर में विरोध जुलूस निकाला।

जन संर्घष मंच हरियाणा के संयोजक डा. सीडी शर्मा ने कहा कि कई दशकों से मजदूर वर्ग पर हमले बढ़ रहे हैं। भारत में 2014 से  श्रमिकों का दमन और पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की प्रक्रिया में तेजी लाई गई है। केंद्र सरकार ने कोरोना आपदा को अवसर में बदलते हुए विपक्ष की गैर मौजूदगी में संसद में श्रम संहिताओं और लेबर कोड्स को पारित कर दिया। लाभदायक श्रम कानूनों में बदलाव कर देश के श्रमिक वर्ग पर सबसे बडा हमला किया है। बदले गए श्रम कानूनों के खिलाफ जन संर्घष मंच हरियाणा, समतामूलक महिला संगठन, आंगनावाड़ी वर्कर्स एवं हैल्पर्स यूनियन, कर्मचारी महासंघ, जन स्वास्थ्य विभाग कर्मचारियों की यूनियन, रोडवेज कर्मचारियों की यूनियन के सदस्यों ने जुलूस निकाला। इस मौके पर डा. सुनीता त्यागी, एलटी सतपाल, सूरजभान चहल, संदीप कालड़ा, रघुबीर देशवाल, सतबीर मलिक, मनजीत, जगमति मलिक, कृष्ण, रेनु, सुमन, संजीव स्वामी, सुभाष भट्टी, संदीप लठवाल आदि मौजूद रहे।

Related posts

कोरोना की संभावित तीसरी लहर की रोकथाम के लिए वैक्सीन जरूरी: डा. आनंद अग्रवाल

Haryana Utsav

सरोज बाला ने बनाए सबसे अच्छे गुड के चावल और सुरेश ने माल पूडे

Haryana Utsav

नए एमडी उदय सिंह ने संभाला आहुलाना चीनी मिल का कार्यभार

Haryana Utsav
error: Content is protected !!