ChandigarhGohana

राशन कार्ड में संशोधन का कार्य एक साल से बंद, लोग परेशान

Ratiion Card

 बीपीएल कार्ड के लिए दो दिन तक खोला था पोर्टल

हरियाणा उत्सव/ बीएस बोहत

गोहाना: परिवार पहचान पत्र में शामिल सदस्यों की संख्या और राशन कार्ड के सदस्यों की संख्या के साथ मिलान नहीं हो रहा है। दोनों पहचान पत्रों में सदस्यों की संख्या में अंतर होने के चलते खाद्य आपूर्ति विभाग ने राशन कार्ड में संशोधन के कार्य पर रोक लगा रखी है। राशन कार्ड में संशोधन को लेकर करीब दो दर्जन लोग खाद्य एवं आपूर्ति विभाग कार्यालय के चक्कर लगातें। संशोधन नहीं होने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन हाल में परिवार पहचान पत्र में संशोधन कार्य शुरू कर दिया है।

अधिकारियों के अनुसार राशन कार्ड में परिवार के सदस्यों ने परिवार पहचान पत्र अलग-अलग बनवा लिए हैं। जिसे राशन कार्ड और परिवार पहचान पत्र से सदस्यों का मिलान नहीं हो रहा है। खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा दोनों में मिलान के लिए परिवार पहचान पत्र में संशोधन का कार्य शुरू कर दिया है। सरकार ने 24 फरवरी 2021 से संशोधन का कार्य बंद कर रखा है। जिससे नए बच्चों के नाम जोडऩे और मृतकों के नाम हटवाने में परेशानी हो रही है। नवयुवकों को शैक्षिक और रोजगार में आवेदन करने के लिए राशन कार्ड व परिवार पहचान पत्र की आवश्यकता होती है। युवक आवेदन करने से वंचित रह जाते हैं। खाद्य आपूर्ति विभाग के कार्यालय में प्रतिदिन करीब 25 से 30 लोग कार्ड में संशोधन के लिए आते हैं। लेकिन कार्ड संशोधन पर रोक लगी होने की बात सुनकर वापस चले जाते हैं। युवाओं ने राशन कार्ड के संशोधन की रोक हटाने की मांग की।

-बीपीएल राशन कार्ड के लिए दो दिन तक खोला था पोर्टल
सरकार ने करीब एक साल से राशन कार्डों में संशोधन पर रोक लगा रखी है। सरकार ने बीपीएल राशन कार्ड के आवेदन के लिए 21-22 जनवरी को पोर्टल खोला था। लेकिन पोर्टल पर परिवार पहचान पत्र का डाटा नहीं मिलने से पोर्टल को दो दिन में ही बंद कर दिया। लेकिन परिवार पहचान पत्र में संशोधन करने के लिए पोर्टल खोल दिया है।

रोहित मलिक, सहायक इंस्पेक्टर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, गोहाना
रोहित मलिक, सहायक इंस्पेक्टर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, गोहाना

परिवार पहचान पत्र और राशन कार्ड के सदस्यों का मिलान नहीं हो रहा है। इसी के चलते 24 फरवरी, 2021 से राशन कार्ड में संशोधन पर रोक है। लेकिन नए परिवार पहचान पत्र बनने शुरू हो चुके हैं। जैसे ही मुख्यालय से निर्देश मिलेंगे उसी हिसाब से कार्य किया जाएगा।
-रोहित मलिक, सहायक इंस्पेक्टर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, गोहाना

Related posts

कांग्रेसी विधायकों ने जिले के लिए मांगी पर्याप्त आक्सीजन

Haryana Utsav

जय बालाजी स्पोर्टस अकादमी के बोक्सरों ने तीन स्वर्ण एक कांस्य पदक जीता

Haryana Utsav

मृतक किसानों को रु. एक करोड़ , सरकारी नौकरी व शहीद का दर्जा दे सरकार-प्रदीप चहल

Haryana Utsav
error: Content is protected !!