Gohana

BPSM Khanpur kalan: निजी एंबुलेंस को मेडिकल कालेज से बाहर निकाला, मरीज परेशान

फोटो-बीपीएस मेडिकल कालेज के बाहर एंबुलेंस चालक विरोध प्रदर्शन करते हुए।  

मरीजों को स्ट्रेचर या व्हीलचेयर  पर लाया जाता है मुख्य गेट तक, उसके बाद मिलती है एंबुलेंस
हरियाणा उत्सव: गोहाना

खानपुर कलां स्थित राजकीय बीपीएस महिला मेडिकल कालेज से निजी एंबुलेंस को बाहर निकाल दिया। सभी एंबुलेंस चालक मेडिकल के मुख्य गेट पर प्रधान भीम सिंह के नेतृत्व में एकत्रित हुए और कालेज प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। चालकों ने एंबुलेंस को दोबारा से आपातकाल विभाग के बाहर खड़ी करने की मांग की।
भीम सिंह, सुभाष मलिक, जगबीर, सुमित आदि ने बताया कि निजी और सरकारी एंबुलेंस आपातकाल विभाग के बाहर वृक्षों की छाया में खड़ी रहती थी। ताकि मरीजों को आसानी से एंबुलेंस सेवा मिल सके। चिकित्सकों ने अपनी गाडिय़ों को छाया में पार्क करने के लिए हमारी निजी एंबुलेंस को मेडिकल से बाहर कर दिया है। एंबुलेंस को बाहर रखने के निर्देश सोमवार को दिए गए हैं।  
मेडिकल प्रशासन ने चिकित्सक और अन्य स्टाफ की हाजिरी लगाने के लिए बायोमेट्रिक मशीन लगाई है। यह मशीन आपातकाल विभाग के बाहर लगाई गई है। चिकित्सक मशीन पर हाजिरी लगाकर अपनी गाडिय़ों को वहीं पर पार्क कर देते हैं। अपनी एंबुलेंस चालकों ने आरोप लगाया कि चिकित्सक अपनी गाडिय़ों को धूप से बचाने के लिए एंबुलेंस को छाया से हटाकर अपनी गाडिय़ों को छाया में पार्क करने लगे हैं। निजी एंबुलेंस को मेडिकल के मुख्य गेट से बाहर कर दिया है। मरीजों को स्ट्रेचर या व्हीलचेयर पर मुख्य गेट तक लाना पड़ता है। उसके बाद मरीजों को एंबुलेंस सेवा मिलती है। दो दिन से एंबुलेंस को मेडिकल से बाहर कडी धूप में खड़ी करना पड़ता है। ऐसे में एंबुलेंस धूप में खड़ी होने से गर्म हो जाती हैं। जिससे मरीजों को लाने ले जाने में मरीजों को परेशानी होती है।

Related posts

युवतियों ने हाथों से तैयार कर फैंसी डै्रसों की प्रदर्शनी लगाई

Haryana Utsav

 मृत बंगाली युवती के आरोपितों को सख्त सजा की मांग।

Haryana Utsav

रजनी विरमानी के सिर सजा गोहाना नगर परिषद का ताज

Haryana Utsav
error: Content is protected !!