February 28, 2024
ChandigarhHaryana

अभय चौटाला ने कहा- विधायकों और सांसदों को भी वापस बुलाने का कानून बनाए गठबंधन सरकार

अभय चौटाला का फिर भतीजे दुष्‍यंत पर निशाना, कहा- विधायकों के लिए भी लाएं राइट टू रिकाल बिल

अभय चौटाला ने कहा- विधायकों और सांसदों को भी वापस बुलाने का कानून बनाए गठबंधन सरकार

हरियाणा उत्सव, चंडीगढ़////// –

हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता रह चुके इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला ने  भतीजे हरियाणा के उपमुख्‍यमंत्री दुष्यंत चौटाला पर फिर निशाना साधा है। अभय ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री के नाते दुष्यंत चौटाला द्वारा लाए जाने वाले राइट टू रिकाल (पंचायत प्रतिनिधियों को एक साल के कार्यकाल के बाद वापस बुलाने संबंधी) बिल पर सवाल उठाए हैं।

अभय ने कहा कि यह सिर्फ छलावा है और राइट टू रिकाल बिल से तात्पर्य सरपंचों के प्रति अविश्वास प्रस्ताव लाने से है। यदि सरकार वास्तव में ईमानदारी से राइट टू रिकाल कानून बनाना चाहती है तो इसे विधायकों, सांसदों और मंत्रियों पर भी लागू किया जाना चाहिए।

इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला रविवार को चंडीगढ़ में मीडिया कर्मियों के सवालों का जवाब दे रहे थे। इस अवसर पर हरियाणा के पूर्व मुख्य संसदीय सचिव राजकुमार वाल्मीकि ने अभय चौटाला का दामन थामा। वाल्मीकि हुड्डा सरकार में सीपीएस रह चुके हैं तथा अंबाला से लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं।

अभय ने शराब घोटाले में एसईटी की जांच रिपोर्ट पर डिप्टी सीएम और गृह मंत्री के अलग-अलग स्टैंड पर भी सवाल उठाए हैं। चौटाला ने कहा कि दुष्यंत अपने विभाग को क्लीन चिट दे रहे हैं, जबकि विज ने विजिलेंस जांच आरंभ करा दी है। इससे संदेश जाता है कि प्रदेश में सरकार नहीं बल्कि गिरोह काम कर रहा है, जिसका उद्देश्य जनता को किसी भी तरह से लूटने का है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल को इस मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। अन्यथा प्रदेश के लोग समझेंगे कि भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए काम हो रहा है।

Source- jagran.com

Related posts

पूर्व क्रिकेटर के नाम हुआ वानखेड़े स्टेडियम का ये स्टैंड, ये सम्मान पाने वाले चौथे क्रिकेटर!

Haryana Utsav

सेना की भर्ती में युवाओं को मिले उम्र में एक साल की छूट

Haryana Utsav

इंडोनेशिया के लोग चखेंगे गोहाना की चीनी का स्वाद

Haryana Utsav
error: Content is protected !!