February 22, 2024
DelhiGohanaHaryanaSonipat

किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में निकाला ट्रैक्टर मार्च

farmer Protast

किसानों ने कृषि कानूनों के विरोध में निकाला ट्रैक्टर मार्च

-हरियाणा जन संघर्ष मंच ने किसानों के समर्थन में निकाला ट्रैक्टर मार्च

हरियाणा उत्सव, गोहाना/ सोनीपत
नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर किसानों ने दिल्ली के चारों ओर ट्रैक्टर मार्च निकाला। ट्रैक्टर मार्च में हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उपर प्रदेश आदि अन्य राज्यों के किसानों ने भाग लिया। किसानों ने दिल्ली को चरों तरफ से घेरा। दिल्ली में प्रवेश मार्गों पर जाम लगे रहे । लोग जाम में कई-कई घंटों से फंसे रहे। दूसरे राज्यों से ट्रैक्टर लेकर आए किसान आंदोलन कारी किसानों के साथ भेंट कर शाम को वापस अपने घरों की तरफ लौट गए। किसान अब 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। किसानों के नेताओ के अनुसार यह तो 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड की रिहर्सल थी। ट्रैक्टरों की असली परेड तो 26 जनवारी को दिल्ली में निकाली जाएगी।

आठ जनसरी को होगी किसनों की सरकार से बैठक

तीनों कानूनों को लेकर किसान और केंद्र सरकार के बीच आठ जनवरी को बैठक होगी। इसमें किसानों ी मांगे मान ली जाएगंगी तो आंदोलन को खत्म किया जा सकता है। मांगे नही मानी तो किसान आंदोलन लंबा चल सकता है।
हरियाणा जन संघर्ष मंच ने मेहनतकश किसान मजदूर संगठन के सहयोग से बृहस्पतिवार को किसानों के समर्थन शहर में ट्रैक्टर मार्च निकाला। ट्रैक्टर मार्च में किसान, मजदूर, शहर के छोटे कारोबारी और रेहड़ी वाले भी शामिल हुए। दूसरी तरफ क्षेत्र के काफी किसान ट्रैक्टर लेकर सोनीपत की तरफ गए। गोहाना-सोनीपत रोड पर ट्रैक्टरों की लाइन लगने से जाम की स्थिति बनी गई।

farmer Protast

            हरियाणा जन संघर्ष मंच और मेहनतकश किसान मजदूर संगठन ने बृहस्पतिवार दोपहर को सैंकड़ों ट्रैक्टरों के साथ रेलवे स्टेशन के सामने से ट्रैक्टर मार्च शुरू किया। ट्रैक्टर मार्च में गामड़ी, जौली, रभड़ा, बलि, माहरा, गंगेसर, छतैहरा, खंदराई, बरोदा, भंडेरी, मदीना, महमूदपुर और रिंढाणा गांव के किसान अपने ट्रैक्टरों के साथ शामिल हुए। ट्रैक्टर मार्च का नेतृत्व हरियाणा जन संघर्ष मंच के प्रदेश सलाहकार डा. सीडी शर्मा ने किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सभी कृषि उत्पादों के न केवल एमएसपी निर्धारित करे अपितु हर फसल का एमएसपी पर बिकना भी सुनिश्चित करे। उन्होंने प्रदूषण फैलाने के नाम पर किसान को पराली जलाने के लिए दंडित करने के अध्यादेश को तुरंत रद करने की मांग की। उन्होंने तीनों कृषि कानूनों को भी निरस्त करने की मांग की। ट्रैक्टर मार्च पुरानी अनाजमंडी, रेलवे रोड, महाराजा अग्रसैन चौक, दीनबंधु चौ. छोटू राम चौक, शहीद भगत सिंह चौक, महावीर चौक, शहीद स्मारक और समता चौक से होते हुए आंबेडकर चौक में संपन्न हुआ।

Related posts

मनोहर सरकार पर मंडराये काले बादल

Haryana Utsav

सालभर में पेट्रोल-डीजल की कीमत 45 प्रतिशत बढ़ी, महानगरों में पेट्रोल 100 रुपये के पार

Haryana Utsav

आहुलाना पैक्स में चोरी, तीन ताले तोड़कर दिया चोरी को अंजाम

Haryana Utsav
error: Content is protected !!