Gohana

भारत की प्रथम शिक्षिका सावित्रीबाई फुले को याद किया

फोटो- भारत की पहली शिक्षिका सावित्रीबाई फुले व ज्योतिबा फुले की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए संगठन के सदस्य।

-माता सावित्रीबाई फुले का 191 वां जन्म दिवस मनाया।

हरियाणा उत्सव/ बीएस बोहत

गोहाना: समतामूलक महिला संगठन और जन चेतना मंच हरियाणा द्वारा भारत की पहली शिक्षिका माता सावित्रीबाई फुले का 191वां जन्मदिन मनाया। पानीपत रोड स्थित माता सावित्रीबाई फुले चौक पर एकत्रित हुए। समारोह की अध्यक्षता मंच के संयोजक डा. सीडी शर्मा की। उन्होंने दोनों की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की। डा. सुनीता त्यागी मुख्य रूप से पहुंची।

डा. सुनीता   त्यागी ने कहा कि माता सावित्रीबाई फुले भारत की प्रथम महिला शिक्षक हैं। उन्होंने ही भारत में महिलाओं के लिए शिक्षा के द्वारा खोले थे। उन्होंने अपने पति ज्योतिबा फुले व गोविंद राव के साथ मिलकर महिलाओं के अधिकारों की लडाई लडी। उन्होंने 1848 में बालिकाओं के लिए पहला स्कूल स्थापित किया था।

फोटो- भारत की पहली शिक्षिका सावित्रीबाई फुले व ज्योतिबा फुले की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए संगठन के सदस्य।
फोटो- भारत की पहली शिक्षिका सावित्रीबाई फुले व ज्योतिबा फुले की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए संगठन के सदस्य।

सेवानिवृत प्राचार्य रघुबीर सिंह ने कहा कि माता सावित्रीबाई फुले का पूरा जीवन पीडि़तों और शोषितों की सेवा में लगा दिया। प्लेग की बीमारी से ग्रस्त लोगों की सेवा करते हुए 10 मार्च 1897 को उनका निधन हो गया था। आज हमें उनके जीवन से सीख लेनी चाहिए। उन्होंने पूंतिपती व्यवस्था के खिलाफ बिगुल बजाया था। उन्होंने बाल विवाह, बाल हत्या, विधवाओं पर अत्याचार के खिलाफ सख्त आवाज उठाई। इस मौके पर रमेश सैनी, डा. अनिल सैनी, रामकुमार, रामफल, गुलाब सिंह, जगमेंद्र, अश्विनी कश्यप, सेवा राम, रघुबीर देशवाल, अनिता इंदोरा, बबीता, इंद्रावती देवी आदि मौजूद रही।

Related posts

आहुलाना चीनी मिल में पूजा कर स्थापित किया रोलर, -रोलर पूजा में बंदर भी हुए शामिल

Haryana Utsav

कोरोना की संभावित तीसरी लहर की रोकथाम के लिए वैक्सीन जरूरी: डा. आनंद अग्रवाल

Haryana Utsav

मुंडलाना पंचायत समिति के वार्डों की आरक्षण प्रक्रिया संपन्न, पिछड़ा वर्ग के लिए किये गये दो वार्ड आरक्षित

Haryana Utsav
error: Content is protected !!